Sunn Zara Lyrics In Hindi And English - सुन ज़रा (JalRaj)

We have brought Sunn Zara lyrics for you. Sunn Zara song is sung by the JalRaj, wrote by Pankaj Dixit and, music is given by Anmol Daniel.

Song Credit
Song Title : Sunn Zara
Lyrics : Pankaj Dixit
Singer : JalRaj
Music : Anmol Daniel

Sunn Zara Lyrics In Hindi And English

Sunn Zara Lyrics In Hindi

आई होप हम
हम फिर कभी न मिलें

सुन ज़रा अर्ज़ियाँ मैं मांगता हूँ
मेरे खुदा से तेरी
सुन ज़रा ख्वाब मेरी नींद में भी
करते हैं बातें तेरी

सौ बार खुदा से माँगा है
मन्नत का तू वो धागा है
तू प्यार के बदले में
अपनी यादें दे गया

मैं गैर था तेरे लिए
फिर मुझे सपने क्यों दे गया
मैं गैर था तेरे लिए
फिर मुझे सपने क्यों दे गया

हाथों की लकीरें बिखरी हुयी हैं
किस्मत में जाने क्या लिखा
काश तू कहीं से मिल जाए मुझको
सजदे मैं करता सर झुका

मैं याद में तेरी हर लम्हा
अर्से से खुद में रहता हूँ
तू ख्वाहिशों से बढ़कर
झूठे वादे दे गया

मैं गैर था तेरे लिए
फिर मुझे सपने क्यों दे गया
मैं गैर था तेरे लिए
फिर मुझे सपने क्यों दे गया

मैं गैर था तेरे लिए
फिर मुझे सपने क्यों दे गया
मैं गैर था तेरे लिए
फिर मुझे सपने क्यों दे गया

आई होप हम
हम फिर कभी न मिलें
आई होप ऐसा ही हो

मैं गैर था तेरे लिए
फिर मुझे सपने क्यों दे गया

Sunn Zara Lyrics In English

I hope hum
Hum phir kabhi na mile

Sun zara arziyan main maangta hoon
Mere khuda se teri
Sun zara khwab meri neend mein bhi
Karte hain baatein teri

Sau bar khuda se maanga hai
Mannat ka tu woh dhaaga hai
Tu pyar ke badle mein
Apni yaadein de gaya

Main ghair tha tere liye
Phir mujhe sapne kyun de gaya
Main ghair tha tere liye
Phir mujhe sapne kyun de gaya

Hathon ki lakeerein bikhri huyi hain
Kismat mein jaane kya likha
Kash tu kahin se mil jaaye mujhko
Sajde main karta sir jhuka

Main yaad mein teri har lamha
Arse se khud mein rehta hoon
Tu khwahishon se badhkar
Jhoothe vaade de gaya

Main ghair tha tere liye
Phir mujhe sapne kyun de gaya
Main ghair tha tere liye
Phir mujhe sapne kyun de gaya

Main ghair tha tere liye
Phir mujhe sapne kyun de gaya
Main ghair tha tere liye
Phir mujhe sapne kyun de gaya

I hope hum
Hum phir kabhi na mile
I hope aisa hi ho

Main ghair tha tere liye
Phir mujhe sapne kyun de gaya

We hope you like Sunn Zara lyrics. If you have any suggestions about Sunn Zara Lyrics, you can contact us. Don't forget to share these beautiful Sunn Zara lyrics in the voice of JalRaj with your friends.

Previous Post Next Post